स्थायी संसद समिति ने कहा कि देश में 257 पुलिस थानों में कोई वाहन नहीं है और 638 थानों में कोई टेलीफोन नही है

संसद समिति: स्थायी संसद समिति ने कहा उनकी रिपोर्ट को गुरुवार को संसद में प्रस्तुत किया गया था कि देश में 257 पुलिस थानों में कोई वाहन नहीं है और 638 थानों में कोई टेलीफोन नही है । कांग्रेस नेता आनंद शर्मा द्वारा गृह मंत्रालय के लिए निश्चित समिति 2020 की स्थिति के अनुसार, भारत में कुल 16,833 पुलिस थानों में से 257 में कोई वाहन नहीं है, 638 में कोई टेलीफोन नहीं है और 143 स्थानों में वायरलेस फोन या सेलफोन नहीं हैं

समिति ने कहा कि उनकी राय यह थी कि आधुनिक पुलिस प्रणाली में मजबूत संचार समर्थन, उन्नत उपकरण और तेजी से कार्रवाई के लिए गतिशीलता बहुत महत्वपूर्ण थी। उन्होंने कहा कि 21 वीं शताब्दी में, विशेष रूप से भारत में अरुणाचल प्रदेश, ओडिशा और पंजाब जैसे कई संवेदनशील राज्यों में कोई टेलीफोन या उचित वायरलेस कनेक्टिविटी नहीं थी। जबकि इनमें से कुछ चुनिंदा राज्यों को 2018-19 में बेहतर प्रदर्शन प्रोत्साहन से नवाजा गया!

स्थायी संसद समिति ने कहा यही हाल जम्मू-कश्मीर में भी है।

समिति ने कहा, “जम्मू-कश्मीर जैसे संवेदनशील सीमा केंद्र में, बड़ी संख्या में टेलीफोन और वायरलेस सेट नहीं हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, समिति ने सिफारिश की है कि गृह मंत्रालय इन राज्यों को सुझाव दे सकता है और यह हो सकता है की अपने पुलिस थानों पर पर्याप्त वाहन उपकरण और संचार उपकरणों की व्यवस्था की जाये, यदि नहीं, तो केंद्र से आधुनिकीकरण के लिए अनुदान खराब किया जा सकता है। समिति ने कहा, “केन्द्रशासित राज्यों के लिए गृह विभाग यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आवश्यक चरणों को जल्द से जल्द पूरा किया जाये!

यह भी पढ़े-जज और न्यायपालिका के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर CBI ने तीन लोगो को गिरफ्तार कर लिया है

यह भी पढ़े-गोवा चुनाव 2022 मतदान प्रतिशत: जानिये गोवा विधानसभा चुनाव में कितने फीसदी मतदान हुआ

 

Leave a Reply