सफल वक्ता बनने के लिए 12 जरूरी टिप्स हिंदी में 12 Essential tips to become a successful speaker in hindi

सफल वक्ता बनने के लिए 12 tips

  आज कल सफल वक्ता बनने के लिए किसी भी क्षेत्र में चाहे राजनीती हो,प्रेरक वक्ता हो,कॉलेज का वार्षिक उत्सव हो,सामजिक कार्यक्रम हो, कार्यालय में मीटिंग हो, हर वक्ता चाहता है कि उसकी विशिष्ट पहचान बने श्रोता उसकी प्रशंसा करे और उसे लम्बे समय तक याद रखे जब आप से लोगो के सामने बोलने को कहा जाता है तो आप घबरा जाते है भाषण देने का मतलब यह नहीं है कि आप बहुत बड़ी भीड़ के सामने ही भाषण दे, भाषण देने के लिए बहुत से श्रोताओ कि जरूरत भी नहीं होती, आप 5 से 10 लोगो के सामने अपनी बात सरल भाव से कह सके इतना ही काफी है वैसे तो प्रभावशाली भाषण देने के लिए कई बातो कि जरूरत हो सकती है लेकिन हम आप को उनमें से कुछ महत्पूर्ण बाते बताते है जो कुशल वक्ता या सफल वक्ता बनने के लिए जरूरी है-

1. अच्छी तैयारी करे-(Make good preparations)

आपको भाषण कि तैयारी करते वक़्त कुछ नियमो का ध्यान रखना चाहिए, पहले ठीक विषय चुनिए विषय ऐसा होना चाहिए कि जो आपके मन का हो और जिस भी विषय को चुने श्रोताओ कि रूचि को ध्यान में रखकर चुने मान लीजिये आप अच्छी पढाई के बारे में कहना चाहते है तो आप उन विघार्थियो कि उम्र और स्तर का भी ध्यान रखकर अपनी बात कहे!

यदि इससे पहले श्रोताओ कि स्कूल, संस्था या उस समाज कि कोई मुख्य उपलब्धि रही हो तो आप सरल शब्दों में उनकी तारीफ करे वे सुनकर हेरान हो जाते है कि यह सब आपको पता कैसे चला!

2. कहने का तरीका-(Way of saying)

भाषण देने का एक बहुत पुराना नियम यह है कि पहले श्रोताओ को बताइए कि आप उन्हें क्या बताने वाले है फिर उन्हें समस्या का हल बताइए और अंत में यह बताइए कि आप उन्हें क्या-क्या बता चुके है मुख्य बात के साथ कोई प्रचलित शब्द या प्रचलित प्रसंग आदि जोड़ देना आप कि बात को प्रभावशाली बना देता है इस तरीके से आपका संदेश उन्हें ज्यादा अच्छी तरह याद रह जाता है!

3. अभ्यास करे-(Practice)

आप अपना भाषण तैयार कर लेने के बाद भाषण देने का अभ्यास कर लीजिये अभ्यास करने के लिए सबसे अच्छी जगह है कोई एकांत स्थान अपने किसी दोस्त के सामने भाषण देने का अभ्यास मत कीजिये क्युकी आप कुछ लोगो के सामने भाषण देने का अभ्यास कर रहे है, न कि किसी एक व्यक्ति के साथ सोच-विचार कर रहे है!

4. कम से कम नोट्स बनाये-(Make notes at least )

अपने पास कम से कम नोट्स रखिये यह बात याद रहे कि आप भाषण देने के लिए खड़े हुवे है अत: कभी भी भाषण पढने का अभ्यास ना करे वैसे भाषण के खास खास मुद्दे कम से कम शब्दों में कार्ड पर लिख लीजिये उन पर एक नजर डालते ही आप में अपनी बात कहने कि शक्ति उत्पन्न हो जाएँगी इसके ठीक उल्टा लम्बे चौड़े नोट्स से भाषण देने में सहायता मिलने कि बजाय रुकावट पैदा होती है!

5. हास्यव्यंग्य का प्रयोग करे-(Use comic satire)

यदि भाषण में हास्यव्यंग हसी-मजाक का रंग हो तो फिर क्या कहना सोने पे सुहागा ही है आप कभी इस प्रकार न पुकारे कि में आप को एक चुटकुला सुनाता हु ऐसा कहने से आपके भाषण को गति नही मिलती यदि आप अपने भाषण के दौरान कोई बात भूल जाते है तो उसे बताइए नही क्युकी जब तक आप अपनी भूल नहीं बताएंगे आप के श्रोताओ को इसकी जानकारी नहीं होंगी इसके अलावा आप पिछली बात दोहराइए, इससे आपको भूली हुई बात याद आ सकती है!

6. उद्देश्य तय करे-(Set the objective)

आप के भाषण के पीछे कोई न कोई उद्देश्य होना जरूरी है जो सफल वक्ता बनने के लिए आवश्यक है और भाषण के दौरान उस उद्देश्य कि दिशा में लगातार कोशिश करते रहे तथा अंत में उस उद्देश्य को प्रयोग में लाते हुवे अपना भाषण समाप्त कर दे भाषण समाप्त करने के लिए अपनी बात को ज्यादा लम्बा खीचना ठीक नहीं है इस बात का हमेशा ध्यान रखे कि श्रोता आपका भाषण सुनना बंद करे उससे पहले ही आप अपना भाषण समाप्त कर दे अपना भाषण ऐसी जगह समाप्त कीजिये कि श्रोता कुछ और सुनने को तरसते रह जाए!

7. श्रोताओ कि निंदा न करे-(Do not condemn the audience)

कभी- कभी हम किसी क्षेत्र और वहा कि अव्यवस्थाओ कि कडवे स्वर में निंदा कर देते है ये निंदा जितनी सामान्य हो उतनी ठीक है यदि आपने कभी कहा कि यहाँ के श्रोता सहायता करने वाले नहीं है तो श्रोता नाराज हो सकते है हो सकता है कि अपनी भावनाओ पर नियंत्रण न कर पाए और वहा आपको अपमानित कर दे इसलिए निंदा हमेशा मिठास के साथ कीजिये और सुरक्षित रहिये!

8. खुद पर हसने कि हिम्मत कीजिये-(Dare to laugh at yourself)

खुद को छोटा बनाना या खुद पर हसना बहुत बड़ी कला है आप चुभने वाली आलोचना को खुद पर हस कर बेअसर कर सकते है इसके कई और सकारात्मक पहलु है ये व्यक्तित्व कि विनम्रता को उजागर करती है ये आपके आत्मविश्वास और आत्मसम्मान को दर्शाती है ये आपकी हिम्मत कि सूचक है श्रोताओ को इस बात से बहुत प्रेरणा मिलती है कि आप भी शुरुआत में कई बार असफल हुए थे लेकिन आज सफल है!

9. सकारात्मक सोच बांटिये -(share Positive thinking)

एक बच्चा दिन भर कचरा बीनता था और रात मै बैठ कर पढाई करता था उसके पिता जी रिक्शा चलाते थे और शराब के आदि थे जैसे ही वह पढने बैठता, उसके पिता जी कहते पढ़ लिखकर क्या करेंगा, आखीर बड़ा होकर रिक्शा ही चलाना है यह बाते उस बच्चे को बहुत चुभती थी धीरे-धीरे उसमे भी नकारात्मक विचार पनपने लगे उसका मनोबल गिरने लगा

एक व्यक्ति उसे रोज रात को पढ़ते हुए देखता था और मन ही मन प्रशंसा करता था उस व्यक्ति ने एक दिन उससे कहा-इतनी कमिया होने पर भी तुम पढाई करके अपनी महान लगन का परिचय दे रहे हो तुम जरुर बड़े आदमी बनोंगे उसने उस बच्चे कि पुस्तको से जैसे योग्य मदद कि वे पहले प्रशंसा के शब्द थे जो उस बच्चे ने सुने थे पहली बार उससे किसी ने कहा कि तुम बड़े आदमी बनोंगे आगे चलकर वह इंग्लैंड में एक प्रसिद्ध वकील बना!

10. किसी और कि नकल मत कीजिये-(Do not copy anyone else)

 हमेशा हम अपने आसपास के किसी व्यक्ति से प्रभावित होकर उसकी नकल करते है बड़े लेखको का अनुभव कहता है कि किसी भी संबोधन या प्रस्तुती में आप अपनी व्यक्तिगत पहचान बनाइए किसी कि नकल मत कीजिये यदि नकल के चक्कर में आप अपनी सच्चाई खो दी तो आप असल से भी जायेंगे और नकल से भी!

11. खुद भी उत्साहित रहे और श्रोताओ को भी उत्साहित करे-(Be enthusiastic yourself and encourage the audience too)

अपने विषय और भाषण के लिए उत्साहित रहिये आपका उत्साह आपके चेहरे से झलकना चाहिए आप आत्मविश्वास से अपना उत्साह श्रोताओ में पहुचाइए आपने कभी कोई नीलामी सुनी है, वहा मुख्य वक्ता इस कदर उत्साह से भरकर बोली बढाता है कि जिससे हर कोई उत्साहित होकर अपनी हैसियत से ऊँची बोली लगा बैठते है यह सब उत्साह से मुमकिन है!

12. श्रोताओ कि प्रशंसा करे-(Praise the audience)

आप दुनिया के सबसे अच्छे श्रोता है आपके जैसे श्रोता मैंने कभी नहीं देंखे इस तरह से प्रशंसा न करे आजकल सुनने वाले समझदार हो गए है आपकी इस मक्खनबाजी को श्रोता समझ लेंगे और उन पर कोई असर नहीं होंगा इस तरह से प्रशंसा करे- मेरी आप लोगो के बारे में सामान्य सी राय थी मगर आप लोगो के ज्ञान का स्तर मेरी उम्मीद से काफी बेहतर था आप लोगो के इस शानदार प्रदर्शन ने मेरी सभी धारणाओ को झूटला दिया!

निष्कर्ष-(Conclusion)

इस लेख में हमने सफल वक्ता बनने के लिए 12 जरूरी टिप्स हिंदी में 12 Essential tips to become a successful speaker in hindi के बारे में बताया है जिससे आप आसानी से सफल वक्ता बन सकते है !

इस लेख को पूरा पढने के लिए धन्यवाद मुझे उम्मीद है कि यह लेख सफल वक्ता बनने के लिए 12 जरूरी टिप्स हिंदी में 12 Essential tips to become a successful speaker in hindi आपको पसंद आया होंगा अगर पसंद आया है तो इसे Social media पर share करना न भूले अंत में comment में अपनी राय जरुर दे !

Leave a Reply