यूक्रेन संकट में भारत के स्वतंत्र दृष्टिकोण की रूस ने की सराहना

रूस यूक्रेन

नई दिल्ली: यूक्रेन संकट में भारत के स्वतंत्र दृष्टिकोण की रूस ने की सराहना जो यूक्रेनी संकट में है। देश (यूक्रेन), उत्तरी अटलांटिक संगठन संगठन (नाटो), रूस के बिच तनाव बढ़ने को ध्यान में रखते हुए भारत की स्थिति पर रूस का यह बयान आया है!। नई दिल्ली में मौजूद रूसी राजदूत ने कहाकी हम भारत में एक सैद्धांतिक,संतुलित और स्वतंत्र नजरिये का अभिनन्दन करते हैं।”

 भारत ने यूक्रेन संकट पर क्या कहा

एक दिन पहले, भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक (संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद) में कहा’शांत और क्रिएटिव नीति’ की जरुरत हैं! तनाव बढ़ाने के कदम उठाने से बचना जरूरी है ! ” संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में यूक्रेनी संकट पर , संयुक्त राष्ट्र के लिए भारत की स्थायी रिलीज टीएस तिरुमुर्ती ने गुरुवार को तनाव को कम करने के लिए एक अपील दायर की।

दिल्ली में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिनिंदम बागची ने यह भी कहा कि भारत तनाव को कम करने और निरंतर राजनयिक वार्ता के संकट को हल करने के लिए एक समर्थक रहा है।

रूसी-यूक्रेन विश्व सीमा पर है
रूस ने यूक्रेनी सीमा के पास लगभग एक लाख सैनिक एकत्र किया है। इसके अलावा, उन्होंने नौसेना अभ्यास के लिए ब्लैक सागर में युद्धपोत भी भेजा, जिसने नाटो देशों के बीच डर में वृद्धि हो गयी है कि रूस यूक्रेन में हमला कर सकता था। अमेरिकी राष्ट्रपति जो यूक्रेन में कई बार रूसी हमलों से डरते थे। हालांकि, रूस ने यूक्रेन पर हमला करने की योजनाओं से इंकार कर दिया।

यह भी पढ़े -देश में सबसे बडा बैंकिंग धोखाधड़ी मामले में ED ने दर्ज किया केस

Leave a Reply