मायावती ने मतदान के बाद बीजेपी के संग प्रचार का अनुमान और धीमी चयन के बारे में कई शानदार बाते कही हैं।

मायावती ने मतदान के

उत्तर प्रदेश की राजनीतिक रण में छह चरणों की चुनाव प्रक्रिया हो गई है, लेकिन एक वोटिंग चरण छोड़ दिया गया है। चुनाव अभियान के दौरान, बीएसपी प्रमुख मायावती कही दिखाई नहीं दी। मायावती ने मतदान के बाद बीजेपी के संग प्रचार का अनुमान और धीमी चयन के बारे में कई शानदार बाते कही हैं। बीएसपी सुप्रीमो ने बताया कि जिस तरह से मैंने अपना काम किया था वह अलग था। हमने दूसरी पार्टी की प्रतिलिपि नहीं की। मैंने एक सड़क शो भी नहीं किया,ना ही नगर,मोहल्ले में कभी गई!अपना खुद का कैडर अलग-अलग तैयार किया  है।

मायावती ने मतदान के बाद कहा कि दूसरी पार्टी के लोगों ने हमें कॉपी किया। हमने पूरे साल काम किया, मैं लखनऊ में एक पूरा साल थी। उन्होंने कहा कि इस बार उम्मीदवारों का चयन सभी समाज को ध्यान में रखकर किया। मैंने अपने घर को ही कार्यालय बना दिया। मायावती ने कहा कि यह विरोधी व्यक्ति बीजेपी के समन्वय के बारे में बात करता है। इस समय के दौरान उन्होंने कहा कि सपा एक बुरी स्थिति में है। मुस्लिम आबादी जहां अधिक मौजूद है, वहा मुस्लिम समुदाय को टिकट प्रदान नहीं करता है।

एनडीटीवी के साथ वार्तालाप में, मायावती ने कहा कि हमने सभी समाजों को टिकट प्रदान किए हैं। दलित, मुस्लिम और सवर्ण को टिकट प्रदान किये है। बीजेपी का विरोध क्यों नहीं? इस सवाल पर, मायावती ने कहा कि मैं अपनी पार्टी की नीति पर ज्यादा ध्यान देती हु और  बताया कि बुलडोजर माफियाओं पर नहीं चलता है। जब रिजल्ट सामने आयेंगे तो सबकुछ क्लियर हो जाएगा।

यह भी पढ़े-हिमाचल के छात्रों जो यूक्रेन में फंस गए थे,

Leave a Reply